33.3 C
Jalandhar
Saturday, July 20, 2024

डिप्टी कमिश्नर ने दाना मंडी में गेहूं खरीद का लिया जायजा, किसानों व आढ़तियों से की बातचीत

फसल के अलग-अलग ढेरों में नमी की मात्रा की जाँच

जिले की मंडियों में अब तक 1.50 लाख मीट्रिक टन गेहूं की आमद में से 1.45 लाख मीट्रिक टन की खरीद, किसानों के खातों में 300 करोड़ रुपये ट्रांसफर

फगवाड़ा, 25 अप्रैल (शिव कौड़ा) डिप्टी कमिश्नर अमित कुमार पांचाल ने आज गेहूं की चल रही खरीद का जायजा लेते हुए स्थानीय दाना मंडी का दौरा किया और किसानों, आढ़तियों और अधिकारियों के साथ मौजूदा खरीद व्यवस्था के बारे में विस्तृत चर्चा की।अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर अनुपम कलेर, एस.डी.एम. जशनजीत सिंह व अन्य अधिकारियों के साथ दाना मंडी पहुंचे डिप्टी कमिश्नर अमित कुमार पांचाल ने मौके पर मौजूद किसानों से उनकी फसल की खरीद के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने किसानों की अलग-अलग ढेरियों के पास जाकर नमी की मात्रा भी जांची। किसानों ने डिप्टी कमिश्नर को बताया कि मंडी में खरीद एजेंसियों द्वारा उनकी फसलें निर्धारित समय पर खरीदी जा रही हैं और भुगतान भी उनके खातों में किया जा रहा है। डिप्टी कमिश्नर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि दिन-प्रतिदिन बढ़ती गर्मी को देखते हुए किसानों व श्रमिकों आदि की सुविधा के लिए मंडियों में उचित प्रबंध किए जाएं ताकि फसल बेचने आने वाले लोग गेहूं बेचकर घर लौट जाएं।
जिले की मंडियों में अब तक आई फसल के बारे में जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि मंडियों में किसानों द्वारा लगभग डेढ़ लाख मीट्रिक टन गेहूं लाया जा चुका है, जिसमें से 1.45 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं फसल की खरीद अलग-अलग एजेंसियों द्वारा की गई है उन्होंने कहा कि किसानों को भुगतान तय समय से पहले किया जा रहा है और अब तक 300 करोड़ रुपये से ज्यादा किसानों के खातों में ट्रांसफर किये जा चुके हैं। जब उनसे फगवाड़ा मंडी में गेहूं की आमद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अब तक 27 हजार मीट्रिक टन गेहूं में से लगभग 26 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा जा चुका है और किसानों को इसके बदले 100 प्रतिशत भुगतान किया जा चुका है।
डिप्टी कमिश्नर अमित कुमार पांचाल ने अधिकारियों से कहा कि जिले की मंडियों में लिफ्टिंग में तेजी लाई जाए ताकि आने वाले दिनों में किसानों को अपनी फसल लाते समय किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने किसानों से बाजारों में निर्धारित नमी  वाली फसल लाने को प्राथमिकता देने की भी अपील की ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे कम से कम समय में अपकी फसल खरीद सकें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
21,900SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles