तब तक आराम से नहीं बैठूंगा, जब तक बेअदबी के दोषियों को सलाखों के पीछे नहीं पहुँचा देता : मुख्यमंत्री

Uncategorized Breaking News Chandigarh Punjab

न्यूज हंट.चंडीगढ़ : मुख्यमंत्री भगवंत मान ने प्रण लेते हुये कहा कि वह तब तक शांत से नहीं बैठेंगे, जब तक बेअदबी के दोषियों को जेल की सलाखों के पीछे नहीं पहुँचा दिया जाता।
मुख्यमंत्री ने आज यहाँ एक न्यूज चैनल की तरफ से मिशन ‘सुनहरा पंजाब’ सम्मेलन के दौरान कहा कि पंजाब की पवित्र धरती पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी हम सभी के माथे पर कलंक है। इस घिनौनी घटना का हो जाना सोच से भी परे और अक्षम्य पाप है जिसके दोषियों को कभी भी बख्शा नहीं जा सकता।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बहुत दुख की बात है कि इतने साल बीत जाने के बाद भी इस घृणित जुर्म के दोषी सरेआम घूम रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि ऐसा सिर्फ़ इसलिए हुआ क्योंकि दोषियों को बचाने के लिए अकालियों और कांग्रेसियों की आपसी मिलीभुगत थी। हालाँकि, उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब दोषी सलाखों के पीछे होंगे जिसके लिए उनकी सरकार कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक समय-समय की सरकारों की शह से दोषी सज़ा से बचते आए हैं परन्तु उनकी सरकार बनने के बाद यह बरताव बंद हो गया क्योंकि वह दोषियों को सजा देने के लिए दृढ़ वचनबद्ध हैं। भगवंत मान ने कहा कि काबिल से काबिल अधिकारी जांच की आगे पैरवी करेंगे और अच्छे से अच्छे वकील अदालत में केस लड़ेंगे जिससे दोषी सजा से बच न सकें।
गैंगस्टरवाद को राष्ट्रीय समस्या बताते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि इस खतरे को रोकने के लिए सभी राज्यों को आपस में हाथ मिलाना होगा। उन्होंने कहा कि सांझे यत्नों स्वरूप ही इस समस्या को कारगर ढंग से ख़त्म करने में मदद मिल सकती है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार ने इस खतरे से निपटने के लिए पहले ही ठोस रणनीति तैयार की है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि संगठित गिरोह के ख़ात्मे के लिए श्रेय अपने सिर लेने वाली कोई बात नहीं होनी चाहिए क्योंकि हरेक राज्य ही इसके प्रति संवेदनशील है। उन्होंने राज्य में गैंगस्टर कल्चर को उत्साहित करने के लिए कांग्रेस और अकालियों की भी कड़ी आलोचना की। भगवंत मान ने कहा कि इन दोनों पार्टियों ने अपने-अपने स्वार्थों की ख़ातिर गैंगस्टरवाद को संरक्षण दिया।
अपने राजनैतिक जीवन की बात करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे मेरी तकदीर राजनीति में ले कर आई परन्तु मैं गरीब से गरीब लोगों की सेवा को पूर्ण तौर पर समर्पित हूँ। भगवंत मान ने कहा कि वह पूरे राज्य के मुख्यमंत्री हैं और उनका एकमात्र लक्ष्य पंजाब को मुल्क में अग्रणी राज्य बनाना है। उन्होंने कहा कि राज्य की तरक्की और पंजाबियों की खुशहाली के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके मंत्री चाहे नये हों परन्तु राज्य और इसके लोगों के लिए उनकी दूरदर्शीता और समर्पण भावना बेमिसाल है। उन्होंने कहा कि यह वचनबद्धता उनको दूसरे राजनीतिज्ञों से अलग बनाती है जिन्होंने सत्ता का प्रयोग सिर्फ़ राज्य के खजाने की लूट के लिये किया है। भगवंत मान ने कहा कि जो लोग अब तजुर्बेकार राजनीतिज्ञ होने का दावा करते हैं, वह इस क्षेत्र में आने के समय नये ही थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बदकिस्मती की बात है कि पंजाबी बड़े कर्ज़े तले दबे हुए हैं परन्तु राजनैतिक नेता उनकी चिंता करने की बजाय अपने वेतनों के लिए चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि यह राजनीतिज्ञ अपने वेतनों की चिंता नहीं करते, बल्कि उनको भ्रष्टाचार की ज्यादा चिंता है जो अब बंद हो गयी है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार ने भ्रष्टाचार पर नकेल डाली है, इसलिए अब ज़्यादातर राजनीतिज्ञों और नौकरशाहों को उनके असली वेतनों के बारे पता लग गया है जो उनको बहुत कम लगती है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस भी व्यक्ति ने एक पैसा भी लूटा है, उसे लोगों के प्रति जवाबदेह बनाया जायेगा। भगवंत मान ने कहा कि ऐसे सभी लुटेरों का पर्दाफाश किया जायेगा और उनके विरुद्ध कानून अनुसार सख़्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि यह उनकी दृढ़ वचनबद्धता है कि दोषी चाहे कितना भी अमीर क्यों न हो, उसे कानून के कटघरे में लाया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.