30 C
Jalandhar
Thursday, July 25, 2024

राज्य में जालंधर ई-सेवा सेवा प्रदान करने में अग्रणी

डिप्टी कमिश्नर ने अधिकारियों/कर्मचारियों की प्रशंसा की 

जालंधर, 15 जनवरी (न्यूज़ हंट)- एक अहम उपलब्धि हासिल करते हुए, सेवा केंद्रों के द्वारा लोगों को नागरिक केंद्रित सेवाएं प्रदान में जालंधर ने 0.01% की न्यूनतम पैंडेंसी के साथ पंजाब में पहला स्थान प्राप्त किया है।

पंजाब सरकार की ताजा रिपोर्ट के बारे में अधिक जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल ने कहा कि ईमानदार प्रयासों, प्रभावी तंत्र और उच्च अधिकारियों की रोजाना निगरानी के साथ, जिले ने सेवा केंद्रों के द्वारा नागरिक केंद्रित सेवाएं प्रदान करने में पहला स्थान प्राप्त किया है| उन्होंने यह भी बताया कि यूनियन की हड़ताल के कारण लंबित मामलों को भी प्रभावी ढंग से निपटाया गया है, जो इस उपलब्धि को और अधिक संतोषजनक बनाता है।

डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि पिछले एक वर्ष में 14 जनवरी 2023 से 15 जनवरी 2024 तक कुल 368481 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से 7175 नामंजूर किए गए और 355024 आवेदनों मंजूर किए गए जबकि 5514 आवेदन प्रक्रियाधीन थे, अन्य का निपटारा कर दिया गया था और इन 5514 में से केवल 51 आवेदन लंबित थे जिन्हें निर्धारित समय के भीतर नहीं खत्म किया गया था।

श्री सारंगल ने लोगों को तुरंत सेवाएं प्रदान करने के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा की कड़ी मेहनत और वचनबद्धता की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि पूरी टीम के प्रयासों के बिना यह सम्मान हासिल करना संभव नहीं था, जो इस प्रक्रिया का महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों/कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए है कि लोगों को समय पर सेवाएं उपलब्ध करवाने का सख्ती से पालन किया जाए।

डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार लोगों को किसी परेशानी के बिना सेवाएं प्रदान करने को प्राथमिकता देने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि यह नतीजे प्राप्त करने के लिए प्रशासन ने जीरों पैंडेसी नियम का पालन किया। श्री सारंगल ने कहा कि जीरों पैंडेंसी सुनिश्चित करने के लिए रोजाना शाम की बैठकें, प्रत्येक आवेदन की निजी निगरानी और प्रभावी तंत्र और अन्य उपाय किए गए। सारंगल ने अधिकारियों/कर्मचारियों को नागरिक सेवाओं के प्रति इसी तरह का जोश जारी रखने को कहा।

पंजाब सर्विस एक्ट, 2018 के तहत, राज्य के लोगों को नागरिक-केंद्रित सेवाएं प्रदान करने के लिए पंजाब सरकार द्वारा यह ई-सेवा आनलाइन प्रणाली शुरू की गई थी।

“सरकार-तुहाडे द्वार ” के तहत 43 विभिन्न सेवाएं जिनमें जन्म और मृत्यु सर्टिफिकेट, हलफ़ीया बयान, लाभार्थी बच्चों के लिए वज़ीफ़ा, रिहायश सर्टिफिकेट ,एससी सर्टिफिकेट ,निर्माण श्रमिक रजिस्ट्रेशन, बुढापा पेंशन, बी.सी.सर्टिफिकेट, बिजली बिल भुगतान, जन्म सर्टिफिकेट में नाम जोड़ना, आय रिकार्ड का निरीक्षण, विवाह रजिस्ट्रेशन (अनिवार्य), मृत्यु सर्टिफिकेट के कई मामले, निर्माण श्रमिक कार्ड का नवीनीकरण, रजिस्टर्ड और अन रजिस्टर्ड दस्तावेजों की वैराफाई कापी ,जन्म सर्टिफिकेट में सुधार, मृत्यु /एनएसी सर्टिफिकेट, ग्रामीण क्षेत्र सर्टिफिकेट, जन्म सर्टिफिकेट की कापी, जनरल जाति सर्टिफिकेट, विधवा/बेसहारा पेंशन, नान-इनकंबरैंस सर्टिफिकेट, बंधक इक्विटी की एंट्री, जन्म सर्टिफिकेट में देरी से एंट्री, ओबीसी सर्टिफिकेट, आय और संपत्ति सर्टिफिकेट, दिव्यांगता पेंशन, फर्द, यूडीआईडी सर्टिफिकेट के लिए आवेदन, दस्तावेजों के काउंटर साइन, विवाह रजिस्ट्रेशन (आनंद), शगुन योजना, मुआवजा बांड, आश्रित बच्चों की पेंशन, सीमा क्षेत्र सर्टिफिकेट,देर से मृत्यु सर्टिफिकेट, एनआरआई सेवाओं में दस्तावेजों पर काउंटर साईन, पुलिस क्लीयरेंस सर्टिफिकेट के लिए काउंटर साईन, मृत्यु सर्टिफिकेट में सुधार,कंडी क्षेत्र सर्टिफिकेट में एंट्री आदि सेवाएं लोगों को सेवा केंद्र पर प्रदान की जाती है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
21,900SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles