डिप्टी कमिश्नर ने निर्माण कामगारों के लिए ‘आन -साइट’ मोबायल टीकाकरण कैंप लगाने के आदेश दिए कहा, इस कदम का उद्देश्य 18 से 44 साल के सभी योग्य लाभापातरियों को टीकाकरण की सुविधा देना निर्माण प्रोजैक्टों में काम रहे ग़ैर -रजिस्टर्ड वर्कर भी ले सकेंगे विशेष आन -साइट कैंपों का लाभ

Covid Cases पंजाब

जालंधर, 11 मई – ( न्यूज़ हंट )

18-44 साल के लिए टीकाकरण अभियान के पहले पड़ाव के अंतर्गत अधिक से अधिक निर्माण कामगारो को कवर करने के लिए डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने मंगलवार को काम और स्वास्थ्य आधिकारियों को जिले भर में इस तरजीही वर्ग के लिए मोबायल टीकाकरण कैंप लगाने के निर्देश दिए।

          इस बारे में और ज्यादा जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि राज्य सरकार की तरफ से इस तरजीही वर्ग के लिए टीकाकरण अभियान के पहले पड़ाव की शुरूआत की गई है और ज़िला प्रशासन इस अभियान को पूरे ज़ोरों –शोरों के साथ लागू करने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होनें बताया कि आधिकारियों को निर्माण कामगार के लिए साइट पर टीकाकरन कैंप लगाने के आदेश दिए गए है।

          उन्होनें आगे बताया कि ग़ैर रजिस्टर्ड निर्माण कामगारों को भी पंजाब बिल्डिंग और अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड अधीन रजिस्टर करवाने के साथ-साथ इन कैंपों का लाभ दिया जायेगा।

          डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि यह कैंप अलग -अलग निर्माण स्थानों, जहाँ कामगार काम कर रहे हैं, पर लगाए जाएंगे और वहां विशेष टीमों की तरफ से उनका मौके पर ही कोविड टीकाकरण किया जायेगा। उन्होनें बताया कि इसमें अभियान ज़िले में 5000 रजिस्टर्ड निर्माण कामगार कोविड टीकाकरण के लिए योग्य होगें और प्रशासन की तरफ से इस तरजीही वर्ग को टीकाकरण का लाभ देने में कोई कमी नहीं छोड़ी जायेगी।

          श्री थोरी ने निर्माण कंपनियों को आगे आने और अपने सभी कामगारों के कोविड टीकाकरण को सुनिश्चित कर इस अभियान में सक्रिय भूमिका निभाने की अपील की। उन्होनें निर्माण कंपनियों के साथ-साथ योग्य लाभपातरियों को भी अपील की कि किसी भी तरह की सहायता के लिए सहायक काम कमिश्नर के मोबायल नंबर 9417199349 पर संपर्क किया जा सकता है।

          इस सम्बन्धित और जानकारी देते हुए सहायक काम कमिश्नर जतिन्दर पाल सिंह ने बताया कि पिछले दो दिनों दौरान 200 से अधिक निर्माण कामगारों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाया जा चुका है और ज़िले में इस अभियान को और तेज़ करने के लिए प्रयत्न किये जा रहे हैं। उन्होनें कहा कि रजिस्टर्ड लाभपातरियों को आधिकारियों की तरफ से अलग -अलग साधनों के द्वारा टीकाकरण अभियान के बारे में अवगत  करवाया जा रहा है। जबकि यदि कोई ग़ैर रजिस्टर्ड कामगार निर्माण स्थान पर पाया जाता है तो इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन के इलावा मौके पर ही उसका टीकाकरण किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *