डिप्टी कमिश्नर ने न्यू रूबी अस्पताल में पी.एस.ए.अधारित आक्सीजन प्लांट का उदघाटन |

जालंधर

जालंधर, 25 मई 2021- ( न्यूज़ हंट )

 ज़िला जालंधर को आक्सीजन के उत्पादन में आत्म-निर्भर बनाने की तरफ एक और कदम बढाते हुए डिप्टी कमिश्नर जालंधर श्री घनश्याम थोरी ने न्यू रूबी अस्पताल में पीएसए प्रौद्यौगिकी पर अधारित आक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया और इस प्लांट की तरफ से प्रति मिनट 500 की दर के साथ आक्सीजन गैस का उत्पादन किया जायेगा।

 आक्सीजन प्लांट की शुरुआत करते हुए डिप्टी कमिश्नर की तरफ से न्यू रूबी अस्पताल की तरफ से मानवीय प्रयोग के लिए इस्तेमाल की जाने वाली आक्सीजन की ज़रूरत को पूरा करने के लिए अस्पताल में लगाए गए आक्सीजन प्लांट को लगाने के लिए किये गए प्रयत्नों की प्रशंसा की गई। उन्होनें कहा कि ज़िला प्रशासन की तरफ से पहले ही अस्पतालों और उद्योगों को ऐसे प्लांट लगाने के लिए अपील की गई है, जिससे वह आक्सीजन उत्पादन में स्व -निर्भर हो सकें।

 डिप्टी कमिश्नर ने दूसरे स्वास्थ्य संभाल संस्थानों और उद्योगों को भी अपील की कि आक्सीजन की ज़रूरत को पूरा करने के  चलते अपने – अपने संस्थानों में इस प्रकार के प्लांट लगाएगें। उन्होनें कहा कि इससे जहाँ आक्सीजन की माँग को कम किया जा सकेगा, वहीं ही जालंधर को आक्सीजन उत्पादन में आत्म- निर्भर बनाया जा सकेगा।

 श्री थोरी ने कहा कि इस प्रकार प्लांट लगाना एक ही बार निवेश करना है ,जिसका उदेश्य संस्थानों को आक्सीजन के उत्पादन में आत्म- निर्भर बनाना है, जो कि कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर दौरान समय की ज़रूरत है। उन्होनें बताया कि ज़िला प्रशासन की तरफ से कोविड महामारी का उचित ढंग से मुकाबला करने के लिए बहु-आयोगी रणनीति जैसे कि सिविल अस्पताल में आक्सीजन प्लांट स्थापित करना, कोविड संभाल संस्थानों को आक्सीजन कंसंट्रेटज उपलब्ध करवाना, सरकारी अस्पतालों में पोस्ट कोविड रिकवरी वार्ड बनाना और मरीज़ों की सुविधा के लिए घर में आक्सीजन की ज़रूरत को पूरा करने के लिए आक्सीजन कंसंट्रेटज बैंक स्थापित करने को अपनाया गया है।

 इस अवसर पर प्रोजैक्ट पर रौशनी डालते डायरैक्टर न्यू रूबी अस्पताल डा.एस.पी.एस. ग्रोवर ने कहा कि आक्सीजन जनरेशन प्लांट की तरफ से 80 सिलेंडर रोजानार उपलब्ध करवाए जाएंगे ,जिससे रोजाना की 80 प्रतिशत आक्सीजन की ज़रूरत को पूरा किया जा सकेगा। उन्होंने यह भी बताया कि इसके इलावा 1500 लीटर तरल आक्सीजन को स्टोर करने के लिए स्टोरेज टेक भी बनाया गया है। ज़िक्रयोग्य है कि न्यू रूबी अस्पताल की तरफ से 40 बैंडो के साथ कोविड के मरीज़ों की सेवा की जा रही है।

 इस अवसर पर डिप्टी मैडीकल कमिश्नर डा.जोती, डायरैक्टर न्यू रूबी अस्पताल डा.पुनीत पाल सिंह, डा.हरनीत कौर ग्रोवर, आई.एम.ए जालंधर प्रधान डा.अमरजीत सिंह, प्रधान रोटरी क्लब मनजीत सिंह और ब्रिगेडियर पी.एस.बिंदरा और अन्य भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *