सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों के सामाजिक शिक्षा विषय के स्कूल स्तरीय आनलाइन पोस्टर मुकाबले 26 से 29 मई तक।

पंजाब पठानकोट
पठानकोट, 25 मई ( न्यूज़ हंट )  -स्कूल शिक्षा विभाग की तरफ से आधुनिक पढ़ाने की तकनीकों का प्रयोग करते हर विषय की पढ़ाई को सरल और रोचक बनाने के उपराले लगातार जारी हैं। सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों की पढ़ाई को रट्टे की बजाय समझ आधारित बनाने के लिए पढ़ाने की नयी तकनीकें अमल में लाईं जा रही हैं। सामाजिक शिक्षा विषय के स्टेट रिसोर्स पर्सन चंद्र शेखर ने बताया कि इन उपरालों के अंतर्गत ही राज्य शिक्षा खोज और प्रशिक्षण परिषद पंजाब की तरफ से समूह सरकारी माध्यमिक, हाई और सीनियर सेकंडरी स्कूलों के छठी से दसवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के सामाजिक शिक्षा विषय के आनलाइन पोस्टर मुकाबले करवाने का फैसला किया गया है। उन्होंने बताया कि यह मुकाबले 26 मई से 29 मई तक करवाए जाएंगे।
  जिला शिक्षा अफसर सेकंडरी जसवंत सिंह ने बताया कि गतिविधि आधारित पढ़ाने की तकनीकों के साथ विद्यार्थियों की विषय प्रति रुचि में लाजिमी तौर पर इजाफा होता है। इसी लिए विद्यार्थियों को
समाजिक शिक्षा विषय के संकल्पों के बारे जानकारी देने के लिए विभाग की तरफ से आनलाइन पोस्टर मुकाबले करवाने का फैसला किया गया है। इस चार दिवसीय आनलाइन पोस्टर मुकाबले दौरान विद्यार्थियों की तरफ से अध्यापकों के नेतृत्व में दिए हुए विषयों के बारे पोस्टर बनाएं जाएंगे।विद्यार्थियों की तरफ से आनलाइन भेजे जाने वाले स्कूल स्तरीय पोस्टरों में से पहले तीन स्थानों पर रहने वाले बढ़िया पोस्टरों का चयन करके स्कूल मुखियों की तरफ से विद्यार्थियों को ई -सर्टिफिकेट के साथ सम्मानित भी किया जायेगा। हर स्कूल की तरफ से पहले स्थान पर रहने वाला पोस्टर संबंधित ब्लाक मैटर को भेजा जायेगा और ब्लाक मैटर की तरफ से ब्लाक के स्कूलों के पोस्टरों में से चयन करके दस बढ़िया पोस्टर जिला मैटर को भेजे जाएंगे। जिला मैटर की तरफ से जिले के पांच सर्वोत्तम पोस्टर स्टेट के साथ शेयर किए जाएंगे।
      उप जिला शिक्षा अफसर सेकंडरी राजेश्वर सलारीया ने कहा कि पढ़ाई के प्रति विद्यार्थियों की पहुंच को तरकमयी बनाने में इन मुकाबलों का बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि सामाजिक शिक्षा विषय के आनलाइन पोस्टर मुकाबलों के कक्षावाईज  सामग्री सामाजिक शिक्षा के जिला और ब्लाक मैंटरों के द्वारा समूह स्कूलों तक पहुंचा दिए गए हैं। उन्होंने समूह स्कूल मुखियों और सम्बन्धित विषय अध्यापकों को इन मुकाबलों में विद्यार्थियों की अधिक से अधिक सम्मिलन यकीनी बनाने के लिए कहा।
जिला मैटर सामाजिक शिक्षा और अंग्रेजी समीर शर्मा ने कहा कि विभागीय निर्देशों अनुसार विद्यार्थियों की तरफ से दिए हुए विषयों पर ही पोस्टर बनाया जायेगा और पोस्टर बनाने के लिए विद्यार्थी साधारण चार्ट शीट का इस्तेमाल कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि चार्ट बनाने के साथ-साथ विद्यार्थियों की विषय प्रति समझ बढ़ेगी और वह विषय के संकल्प आसानी के साथ समझने के समर्थ होंगे। इस मौके पर शिक्षा सुधार टीम मैंबर कमल किशोर, रमेश कुमार, मुनीश कुमार, जिला कोआरडीनेटर मीडिया सेल बलकार अत्तरी, ब्रिज राज आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *