सुनने और बोलने में असमर्थ हरमेश की ज़िंदगी में ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो ने जगाई आशा की किरन

जालंधर पंजाब ब्रेकिंग न्यूज़

जालंधर, 3 जून: ( न्यूज़ हंट )
दिव्यांग उम्मीदवारों को भी अन्य युवाओं के बराबर रोज़गार के अवसर देने की अपनी वचनबद्धता को पूरा करते हुए ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो (डी.बी.ई.ई.) ने सुनने और बोलने में असमर्थ युवा को नौकरी दिलवा कर उसके जीवन में आशा की एक नई किरण जगा दी है।
जानकारी देते हुए माडल टाऊन जालंधर के रहने वाले हरमेश ने बताया कि वह बचपन से ही सुनने और बोलने से असमर्थ है ,परन्तु इस अपंगता को उसने कभी बाधा नहीं बनने दिया, बल्कि मेहनत और लगन के साथ बी.एफ.ए. (बैचलर आफ फ़ाईन आर्टस) के पास की।
उसने बताया कि जहाँ वह पहले नौकरी कर रहा था, वहां किसी कारण से संतुष्ट नहीं था और बुज़ुर्ग पिता, सुनने और बोलने में समर्थ पत्नी और दो बच्चों प्रति अपनी ज़िम्मेदारी के निर्वाह को ले कर बेहद परेशान था।
नयी नौकरी की तलाश दौरान एक दिन एक दोस्त की तरफ से ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो के बारे में जानकारी मिलने पर उसने अपने सर्टीफिकेटों सहित ब्यूरो में पहुँच की और अपनी स्थिति और नौकरी की सख़्त ज़रूरत के बारे में बताया, जिस पर दफ़्तर ने उसकी मैनुअल और आनलाइन रजिस्ट्रेशन की।
उन्होनें बताया कि ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो के प्रयासों से उसे रिलायंस माल में रिकार्ड कीपर की नौकरी मिल गई है और आज -कल कोविड -19 कारण वह घर से काम कर रहा है। उसने कहा कि उसे सैलरी समय पर मिल जाती है और वह इस नौकरी से पूरी तरह संतुष्ट है।
हरमेश ने पंजाब सरकार की तरफ से घर -घर रोज़गार मिशन के अंतर्गत युवाओं को रोज़गार के अवसर देने के लिए किये जा रहे प्रयासों की प्रशंसा करते  हुए कहा,”मैं ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो का बहुत धन्यवादी हूँ, जिसने मुझे अपने पैरों पर फिर से खडा होने के समर्थ बनाया है और निराशा से बचा लिया।”
उन्होनें सभी बेरोजगार युवाओं विशेष कर दिव्यांग लड़के -लड़कियों को आत्म -निर्भर बनने के लिए ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो, जालंधर की तरफ से प्रदान की जा रही सुविधाओं की जानकारी प्राप्त करने और अपने भविष्य को संवारने के लिए ब्यूरो के साथ संपर्क करने की अपील की।
इस सम्बन्धित डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने कहा कि ज़िला रोज़गार और कारोबार ब्यूरो की तरफ से बड़ी संख्या में बेरोजगार युवाओं को रोज़गार के अवसर प्रदान करवाए जा रहे हैं विशेषकर शारीरिक चुनौतियों का सामना करने वाले लड़के -लड़कियों को अन्य युवाओं के बराबर रोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाना ब्यूरो की हमेशा पहल रही है।
श्री थोरी ने कहा कि इसके इलावा डी.बी.ई.ई. की तरफ से युवाओं में जागरूकता पैदा करने के लिए सक्रियता के साथ काम किया जा रहा है जिससे उनको सरकारी योजनाओं का लाभ मिलना यकीनी बनाया जा सके, जिसके साथ उनको आत्म -निर्भर बनने में मदद मिलेगी। उन्होनें युवाओं को और ज्यादा नौकरियों के लिए www.pgrkam.com पर रजिस्टर करने की अपील भी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *