धान की सीधी बिजाई से की जा सकती है पानी की बचत: एस. डी.एम.

जालंधर ब्रेकिंग न्यूज़

जालंधर, 7 जून: ( न्यूज़ हंट )

किसानों को धान की सीधी बिजाई के लिए प्रेरित करने के लिए गाँव कंगणीवाल में प्रदर्शनी प्लांट बीजा गया |

किसान धान की सीधी बिजाई के लिए कृषि यूनिवर्सिटी की सिफारिशों अनुसार नदीननाशकों का इस्तेमाल करे: मुख्य कृषि अधिकारी

किसानों को धान की सीधी बिजाई के लिए प्रेरित करने के लिए कृषि और किसान भलाई विभाग की तरफ से किसान श्री मनजिन्दर सिंह गाँव कंगणीवाल ब्लाक जालंधर पूर्वी के खेतों में धान की सीधी बिजाई के द्वारा प्रदर्शनी प्लांट बीजा गया।

इस अवसर पर एस. डी. एम. -2 श्री हरप्रीत सिंह ने विशेष तौर पर पहुँच की और कहा कि इस तकनीक प्रति किसानों का रुझान बढ़ रहा है। उन्होनें कहा कि प्रदर्शनी प्लांट के द्वारा धान की रिवायती ढंग के साथ काश्त कर रहे किसानों को धान की सीधी बिजाई करने की प्रेरणा मिलेगी और इस तरीके द्वारा धान की काश्त करने के साथ पानी की बचत भी की जा सकती है। उन्होनें कहा कि किसानों को चाहिए कि वह धान की सीधी बिजाई में पिछले समय दौरान कामयाब हुए किसानों से संबंध रखते हुए इस विधि की तरफ विशेष ध्यान दे।

डा. सुरिन्दर सिंह, मुख्य कृषि अधिकारी, जालंधर ने कहा है कि विभाग की तरफ से ज़िले भर में आत्मा योजना अधीन प्रदर्शनी प्लांट बीजे जा रहे हैं और इस योजना अधीन विभाग की तरफ से प्रति एकड़ 4000 रुपए तक का खर्चा करते हुए इन प्रदर्शनी प्लांटों के द्वारा किसानों को धान की सीधी बिजाई के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

उन्होनें बताया कि धान की सीधी बिजाई बीच का से भारी ज़मीनें में करन की सिफारिश की गई है।मुख्य कृषि अधिकारी ने किसानों से अपील की है कि वह धान की सीधी बिजाई के लिए कृषि यूनिवर्सिटी की सिफारिशों अनुसार प्रयास करते हुए नदीननाशकों का इस्तेमाल करे।

इस अवसर पर डा. मनिन्दर सिंह ज़िला प्रसार माहिर पंजाब कृषि यूनिवर्सिटी ज़िला जालंधर ने कहा कि धान की फ़सल की सीधी बिजाई के लिए 8 किलो बीज को 8-12 घंटे के लिए भिगाने उपरांत और सिफारिशों अनुसार सुधारने के बाद तकरीबन 3-4 सैंटीमीटर गहराई पर बीजने की सिफारिश की गई है।

सहायक कृषि इंज.जालंधर श्री नवदीप सिंह ने जानकरी दी है कि धान की सीधी बिजाई धान की फ़सल बीजने वाली डी. एस. आर. मशीन के द्वारा करने की सिफारिश है, इस लिए यूनिवर्सिटी की तरफ से सिफारिश की गई लक्की सीड ड्रिल मशीन के द्वारा भी धान की सीधी बिजाई की जा सकती है। इंज. नवदीप सिंह ने किसानों को विनती की है कि ज़िले में कई सहकारी सभाएं, किसान ग्रुपों और किसान उदम्मी ने तकरीबन 200 डी एस आर मशीनों विभाग के द्वारा प्राप्त की हैं, किसान अहजे किसानों, किसान ग्रुपों आदि से मशीनें किराये पर प्राप्त करके धान की सीधी बिजाई कर सकते हैं।

इस अवसर पर किसान मनजिन्दर सिंह ने कहा कि उसकी तरफ से धान की सीधी बिजाई 20 एकड़ क्षेत्रफल में की जायेगी। उन्होनें कहा कि इस तकनीक के द्वारा बिजाई करने के साथ धान के झाड़ में भी कोई कमी नहीं देखी जा रही है। इस अवसर पर इलाके के दूसरे किसान जसविन्दर सिंह, कुन्दन सिंह, रणजीत सिंह गाँव कंगणीवाल ने कहा कि इस प्रदर्शनी प्लांट से वह बेहद प्रभावित हुए है। इस अवसर पर ब्लाक कृषि अधिकारी डा. नरेश कुमार गुलाटी, कृषि उपनिरीक्षक श्री सोनू, श्री मनीष कुमार और श्री राजीव वर्मा भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *