जिला रोजगार ब्यूरो की एक और शानदार पहल: अब डोर स्टैप पर कार वाशिंग की सेवा देंगे मिस्टर क्लीन

पंजाब होशियारपुर

होशियारपुर, 04 जुलाई 2021 ( न्यूज़ हंट ) :

जरुरमंदों को रोजगार दिलवाने व स्व रोजगार के काबिल बनाने की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए जिला रोजगार ब्यूरो की ओर से आज मिस्टर क्लीन नाम से एक और शानदार प्रोजैक्ट की शुरुआत की गई। जिला रोजगार ब्यूरो में आयोजित समागम में पंजाब के पहले इस बेहतरीन प्रोजैक्ट की विधिवत शुरुआत डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने करवाई। इस प्रोजैक्ट के माध्यम से होशियारपुर व गढ़शंकर शहर के वार्डों में डोट स्टैप पर लोगों को वाजिब मूल्य पर कार वाशिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने बताया कि पंजाब सरकार के घर-घर रोजगार मिशन के अंतर्गत जिला रोजगार व कारोबार ब्यूरो की ओर से कम पढ़े लिखे, गरीब, जरुरतमंद बेरोजगारों नौजवानों को उनके पैरों पर खड़ा करने के लिए इस विशेष प्रोजैक्ट को शुरु किया गया है, जो कि उनके लिए वरदान साबित होगा। इस दौरान उन्होंने मिस्टर क्लीनज को ट्रेनिंग सर्टिफिकेट व वाशिंग किट्स भी वितरित की।
डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि कि इस प्रोजैक्ट की शुरुआत होशियारपुर व गढ़शंकर से की गई है, जिसके अंतर्गत शहर के हर वार्ड में लोगों के घर पर ही कार वाशिंग के लिए मिस्टर क्लीन नियुक्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रोजैक्ट से एक तरफ जहां जरुरतमंदों को स्व रोजगार मुहैया हुआ है वहीं जनता को घर बैठे ही रोजाना कार वाशिंग जैसी सुविधा 450 रुपए प्रति माह के मामूली मासिक भुगतान पर मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि मिस्टर क्लीन को एक हाईटैक वाशिंग किट जो कि सोनालिका ट्रैक्टर्ज की ओर से सी.एस.आर प्रोजैक्ट के अंतर्गत दी गई है। उन्होंने सोनालिका के वाइस चेयरमैन अमृत सागर मित्तल व एम.डी दीपक मित्तल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जिला प्रशासन की ओर से शुरु किए जाने वाले हर समाज सेवा के प्रोजैक्ट में सोनालिका हमेशा ही सहयोग करता है। उन्होंने मिस्टर क्लीनज को जिला रोजगार ब्यूरो के माध्यम से कार वाशिंग की नि:शुल्क ट्रेनिंग देने के लिए होशियारपुर आटोमोबाइल्स के एम.डी अजविंदर सिंह का भी आभार व्यक्त किया।
डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने बताया कि मिस्टर क्लीन को वाशिंग किट, ट्रेनिंग मुहैया करवाने के साथ-साथ जिला प्रशासन की ओर से इनको क्लाइंट्स भी दिए गए हैं ताकि वे हर माह एक अच्छी आय प्राप्त कर सकें। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से आने वाले समय में जिले के अन्य शहरों में भी इस प्रोजैक्ट को शुरु किया जाएगा और सरकारी विभागों व इंडस्ट्री के सहयोग से और मिस्टर क्लीनज को इस प्रोजैक्ट में शामिल कर उनको स्व रोजगार मुहैया करवाया जाएगा।
अपनीत रियात ने बताया कि कोविड-19 महांमारी के दौरान जिला रोजगार व कारोबार ब्यूरो की ओर से कम पढ़े लिखे, जरुरमंदों, दिव्यांगों व समाज के अन्य पिछड़े वर्गों के लिए रोजगार के नए अवसर देकर इस मुश्किल घड़ी में युवकों के आत्म विश्वास व उत्साह को कायम रखा है। उन्होंने विशेष तौर पर जिला रोजगार अधिकारी गुरमेल सिंह, प्लेसमेंट अधिकारी मंगेश सूद व कैरियर काउंसलर आदित्य राणा को रोजगार के क्षेत्र में तकनीक की मदद से नए-नए प्रयास कर रोजगार के प्रोसेस को आसान बनाने की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इसी फलस्वरुप जिला होशियारपुर रोजगार के क्षेत्र में पूरे पंजाब में अपनी एक विशेष पहचान बनाने में कामयाब हुआ है।
इस मौके पर सोनालिका इंडस्ट्री की ओर से जे.एस. चौहान, रजनीश संदल, होशियारपुर आटोमोबाइल्स के जी.एम. अखिलेश सूद ने भी जिला रोजगार ब्यूरो की इस पहल को सराहते हुए भविष्य में भी इसी तरह सहयोग देने का आश्वासन दिया।
मिस्टर क्लीन प्रोजैक्ट की विशेषता:-
जिला रोजगार ब्यूरो की ओर से मिस्टर क्लीनज को एक विशेष वाशिंग किट् मुहैया करवाई गई है, जिसे दोपहिया वाहन पर कैरी करना बहुत आसान है। इस किट में पोर्टेबेल गन वाशिंग मशीन, वैक्यूम क्लीनर, मारुती सजूकी के ब्रांडिड क्लीनिंग प्रोडक्टस, बाल्टी, मग, कैरी बैग, यूनिफार्म, गम शूज, आई. डी कार्ड मुहैया करवाए गए हैं। मिस्टर क्लीन की ओर से एक घर से एक गाड़ी वाश के लिए 450 रुपए चार्ज किए जाएंगे, जिसमें वे एक सप्ताह में तीन दिन व माह से 12-15 बार कार की वाशिंग करेंगे व हर 15 दिन बाद कार की वैक्यूम क्लीनिंग करेंगे। हर मिस्टर क्लीन को रोजगार ब्यूरो की ओर से 30 से 35 कस्टमर मुहैया करवाए गए है, जिससे हर मिस्टर क्लीन 15 हजार रुपए मासिक आय प्राप्त कर सकता है। कस्टमर की ओर से 450 रुपए देने पर उसे रसीद भी मुहैया करवाई जाएगी। रसीद के पीछे सभी नियम व शर्ते लिखी होंगी।
क्या कहते हैं मिस्टर क्लीन
मिस्टर क्लीन दीपक कुमार ने बताया कि वह एक फैक्ट्री में काम करता था लेकिन लॉकडाउन में उसकी नौकरी चली गई और वह बेरोजगार हो गया। उसे जिला रोजगार ब्यूरो की मोबाइल एप डी.बी.ई.ई आनलाइन से मिस्टर क्लीन प्रोजैक्ट की जानकारी मिली और उसने यहां आवेदन किया। दीपक ने जिला प्रशासन के इस कदम की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनके इस प्रयास से उस जैसे कई बेरोजगारों को स्व रोजगार मिला है।
कपड़े की दुकान पर काम करने वाले वेद प्रकाश ने बताया कि दुकान पर दिन रात काम करते हुए भी वह परिवार का ठीक से गुजारा नहीं चला पाता था क्योंकि उसकी आय बहुत कम थी और काम बहुत ज्यादा। इसी बीच उसे रोजगार ब्यूरो की मोबाइल एप से मिस्टर क्लीन प्रोजैक्ट के बारे में पता चला और उसने दुकान का काम छोड़, इस काम को अपनाया क्योंकि यह उसका खुद का काम है और वह आत्म सम्मान के साथ यह काम कर सकता है।
हरमिंदर सिंह ने कहा कि वह कार वाशिंग का काम करता था लेकिन लॉकडाउन में उसकी नौकरी चली गई। उसको रोजगार ब्यूरो की मोबाइल एप से मिस्टर क्लीन प्रोजैक्ट के बारे में जानकारी मिली तो उसने यहां आवेदन कर दिया। हरमिंदर ने कहा कि कार वाशिंग का वह पहले ही काम करता था लेकिन यहां से मिली ट्रेनिंग से उसको काफी कुछ सीखने को भी मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *