मुख्यमंत्री तथा सरकारिया बताएं कि किन नियमों के तहत रेत तथा बजरी निकालने के लिए 200 फीट तक की खुदाई की अनुमति है: सरदार सुखबीर सिंह बादल

पंजाब

मुकेरियां 03 जुलाई 2021 ( न्यूज़ हंट ) :

शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और खनन विभाग के मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकारिया से कहा है कि वे खुलासा करें कि किन नियमों के तहत रेत तथा बजरी निकालने के लिए 200 फुट तक खुदाई की अनुमति दी गई है, जिसमें कई गांवों की जमीन शामिल है, में रेत तथा बजरी माफिया तथा जिला पुलिस और खनन विभाग की मिलीभगत ने क्षेत्र को तबाह कर दिया है।

सरदार सुखबीर सिंह बादल धामीयां, संधवाल तथा ब्रींगाली गांवों में खनन माफिया द्वारा खाइयां खोदे जाने के कारण वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध होने के कारण कई किलोमीटर तक पैदा चलना पड़ा। सरदार सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि ‘इस तरह के हथकंडे शिरोमणी अकाली दल को रेत माफिया को उजागर करने से नही रोक सकते, जिनके सिरे मुख्यमंत्री तथा आॅल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) तक पहुंच हैं। उन्होने खुलासा किया कि भले ही यहां माफिया ने दस से ज्यादा गांवों को तबाह करके रख दिया है, फिर भी सरकार को उनकी चिंता नही है। ‘ आज भी स्थानीय पुलिस ने अवैध रेत माफिया को पहले ही उनकी यात्रा के बारे में सूचित कर उन्हे भागने का अवसर प्रदान किया’। उन्होने कहा कि माफिया ने यह सुनिश्चित करने के लिए कि हम उस जगह तक न पहुंचे, जहां अवैध खनन किया जा रहा है, वहां खाइयां खोदी हुई थी। यहां तक कि उन्होने कच्ची सड़क खोदकर क्षेत्र से बाहर निकलने से रोकने की कोशिश की’।

अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि भले ही नियमों में दस फीट तक तक अनुमति दी हुई है, लेकिन रेत माफिया ने 200 फुट तक खुदाई की गई है, जिसके कारण जमीन के रिसाव के कारण एक झील भी बन गई है। मौके पर इकटठे हुए एनजीओज् तथा ग्रामीणों ने खुलासा किया क स्थानीय विधायक इंदूबाला व पुलिस  व खनन विभाग की सक्रिय मिलीभगत से कांग्रेस विधायक दर्शन बराड़ के बेटे गुरजंट सिंह द्वारा अवैध खनन व पत्थर तोड़ने का काम किया जा रहा है। उन्होने जिक्र किया कि एसएसपी नवजोत सिंह महल माफिया को सरंक्षण प्रदान कर रहे हैं।

सरदार  बादल से बातचीत कर गुरु नानक वेल्फेयर सोसायटी के अध्यक्ष कृपाल सिंह गेरा से बातचीत करते हुए कहा कि सोसायटी काफी समय से माफिया के खिलाफ शिकायत कर रही है, परंतु स्थानीय पुलिस तथा प्रशासन ने इनके खिलाफ कार्रवाई करने से इंकार कर दिया है। मौके पर मौजूद लोगों ने खुलासा किया कि अवैध खनन के कारण उनकी जमीन तबाह हो गई है, यहां तक कि कच्ची सड़क जो एक गांव से दूसरे गांव में लगती थी को भी खत्म कर दिया गया है। एक शिकायतकर्ता बीबी सुरिंदर कौर ने खुलासा किया कि  उनकी 25 एकड़ की जमीन माफिया द्वारा गैर कानूनी ढंग से रेता निकाला है।

स्थानीय ट्रक ड्राइवरों के साथ साथ पड़ोसी हिमाचल प्रदेश से भी लोग माफिया के खिलाफ शिकायत की कि माफिया उनसे ‘ गुंडा टैक्स’ वसूल कर रहा है। हिमाचल के आॅपरेटरों ने कहा कि इस तथ्य के बावजूद कि यह मामला हिमाचल के मुख्यमंत्री ने उठाया था, इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नही की गई, कि उनसे हिमाचल से पंजाब में रेता बजरी लाने के लिए प्रति ट्रक 10 हजार रूपये गुंडा टैक्स वसूला जाता |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *