ज़िला प्रशासन किसानों एवं मज़दूरों की जायज माँगों के हल के लिए वचनबद्ध: अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर

जालंधर पंजाब ब्रेकिंग न्यूज़

जालंधर, 6 अक्तूबर ( न्यूज़ हंट )- ज़िला प्रशासन किसानों और मज़दूरों की जायज माँगों के हल के लिए वचनबद्ध है और किसानों के जायज मसलों के जल्दी से जल्दी हल को विश्वसनीय बनाया जायेगा। यह बात अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (जनरल) श्री अमरजीत बैस ने बुद्धवार को ज़िला प्रशासकीय

कंपलैक्स में किसान मज़दूर संघर्ष समिति पंजाब के प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग करते हए कही। अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर ने संघर्ष समिति की माँगों को सुनते जत्थेबंदी के प्रतिनिधियों को स्थानीय स्तर की माँगों का हल जल्दी से जल्दी किये जाने का विश्वास दिलाते हुए कहा कि जत्थेबंदियाँ की सरकार स्तर की माँगे सरकार को भेज दी जाएंगी।

डी.ए.पी. खाद्य सम्बन्धित श्री बैंस ने बताया कि सहकारी सोसायटियों में डी.ए.पी. की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कृषि विभाग के आधिकारियों को किसानों की सुविधा के लिए कीड़ेमार दवाओं और खाद विक्रेताओं की दुकानों पर रेट लिस्ट और स्टाक सम्बन्धित जानकारी लिख कर लगाने निर्देश दिए और साथ ही यह भी कहा कि यदि किसी किसान को दुकानदार की तरफ से खाद्य की अधिक कीमत वसूले जाने या धक्के से कोई अन्य दवा के साथ बेचे जाने का मामला सामने आता है तो ज़िला प्रशासन के ध्यान में लाया जाये।

ज़िला प्रशासन की किसानों के मसलों को प्राथमिकता देने की वचनबद्धता दोहराते हुए उन्होंने बताया कि बारिश के कारण नुकसानी फ़सल की विशेष गिरदावरी करवाई जा रही है और पटवारियों को पहले ही गाँव -गाँव मौके पर जा कर गिरदावरी करने के निर्देश के दिए गए है ।

अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि ज़िले की मंडियों में धान की खरीद प्रक्रिया निर्विघ्न और सुचारू ढंग के साथ चल रही है। उन्होंने किसानों को विश्वास दिलाया कि फ़सल की पूरी प्रक्रिया के दौरान किसानों को किसी किस्म की कोई मुश्किल पेश नहीं आने दी जायेगी।

इस अवसर पर एस.डी.एम. शाहकोट लाल विश्वास, सचिव आर.टी.ए. अमित महाजन, ज़िला राजस्व अधिकारी परमजीत सिंह, ज़िला ख़ुराक और सिविल सप्लाई कंट्रोलर हरशरन सिंह, ज़िला मंडी अधिकारी मुकैश केले, डी.एस.पी. (हैड कुआरटर) अजय सिंह और अन्य विभागों के अधिकारी और किसान मज़दूर संघर्ष समिति के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *