परगट सिंह ने समाज के हर वर्ग की भलाई की वचनबद्धता को दोहराया

पंजाब ब्रेकिंग न्यूज़

जालंधर (जमशेर) ,09 अक्तूबर ( न्यूज़ हंट )- पंजाब सरकार की तरफ से समाज के हर वर्ग विशेषकर गरीब वर्ग की भलाई के लिए वचनबद्धता को दोहराते हुए पंजाब के शिक्षा, खेल और ऐन.आर.आईज़ मामले के मंत्री स.परगट सिंह की तरफ से आज कर्ज़ राहत योजना के अंतर्गत भूमि रहिे किसानों और खेत मज़दूरों को 73 लाख रुपए के चैक सौंपे गए।

सहकारिता सोसायटी जमशेर में 305 लाभपातरियों को चैक सौंपने के अवसर पर स.परगट सिंह जिनके साथ डिप्टी रजिस्ट्रार सहकारी सभायें जगजीत सिंह भी मौजूद थे, ने कहा कि कर्ज़ राहत योजना के अंतर्गत ज़िले में 41307 बिना ज़मीन किसानों और खेत मज़दूर को 78.47 लाख रुपए की कर्ज़ राहत पहुंचायी जायेगी। उन्होंने बताया कि इसी तरह विधान सभा जालंधर कैंट में भूमि रहिे किसानों और खेत मज़दूरों का 6.75 करोड़ रुपए का कर्ज़ माफ़ करके 3177 लाभपातरियों को राहत पहुंचायी गई है। उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग लाभपातरियों को चैक उपलब्ध करवाने के लिए पूरी तरह तैयार है और आने वाले दिनों में सभी सभाओं को कवर कर लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि कर्ज़ राहत योजना के अंतर्गत योग्य लाभपातरियों को उनके घर पर चैक देने की सुविधा उपलब्ध की जायेगी। स.परगट सिंह ने कहा कि राज्य सरकार की तरफ से किये गए वायदे को पूरा करते हुए लाभपातरियों में यह चैक बाँटे जा रहे है। उन्होंने कहा कि प्राथमिक कृषि सहकारी सभाओं के योग्य लाभपातरियों के बकाए मुआफ किये जाएंगे।

इस अवसर स. परगट सिंह की तरफ से हवा में धुआँ होने कारण वातावरण प्रदूषित होने से स्वास्थ्य को होने वाले नुक्सान को मुख्य रखते हुए किसानों को धान की पराली और फसलों के अवशेष को आग न लगाने की पुरज़ोर अपील की गई। उन्होंने कहा कि लोग हित और वातावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए में इस बुरे रुझान को रोकना चाहिए। उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से किसानों की सुविधा के लिए आई -खेत एप जारी की गई है, जिससे खेता में ही धान की पराली और फसलों की अवशेष के सभ्यक प्रबंध के लिए खेती यंत्रों की सही जानकारी हासिल की जा सके। उन्होंने बताया कि राज्य भर में इन -सीटू प्रबंधन मशीनरी के अंतर्गत किसानों को धान की पराली और फ़सलो के अवसेष का खेतों में ही सभ्यक ढंग के साथ निपटारा करने के लिए इस की अधिक से अधिक प्रयोग करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.