फर्जीवाड़ा है 5 मरला प्लॉटों के लिए चन्नी के कागज का टुकड़ा: मनीष सिसोदिया

पंजाब ब्रेकिंग न्यूज़

जालंधर, 16 अक्तूबर (न्यूज़ हंट)-आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय नेता एवं दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा अनुसूचित जाति से संबंधित बेघर लोगों को बांटे जा रहे पांच मरला प्लॉट की आड़ में रोजगार कार्डों की तरह गुमराह करने वाला फर्जीवाड़ा करार दिया है।

मनीष सिसोदिया शनिवार को पंजाब के एक दिवसीय दौरे के दौरान जालंधर में मीडिया से रू-ब-रू थे। इस मौके पर उनके साथ नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा और पार्टी के अनुसूचित जाति विंग के प्रदेशाध्यक्ष लालचंद कटारूचक्क, प्रदेश महासचिव हरचंद सिंह बरसट और महिला विंग की अध्यक्ष राजविंद कौर थियारा भी उपस्थित रही। इससे पहले मनीष सिसोदिया ने शक्ति नगर स्थित भगवान वाल्मिकी जी के मंदिर में नतमस्तक हुए और वाल्मिकी जी के प्रकट दिवस पर आयोजित शोभा यात्रा को हरी झंडी दी।

जालंधर में मीडिया को संबोधित करते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि जिस प्रकार 2017 में चुनाव से तीन महीने पहले कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लोगों को झांसे में फांसने के मकसद से किसानों की संपूृर्ण कर्जा माफी के कार्ड बांटे थे और बेरोजगारों के लिए घर-घर नौकरी के नाम पर रोजगार कार्ड बांटे थे। कार्ड धारकों को रोजगार देने और रोजगार नहीं मिलने तक भत्ता देने की बात कही थी। लेकिन साढ़े चार साल तक कैप्टन और कांग्रेस को किसी कार्ड की याद तक नहीं आई। अब चरणजीत सिंह चन्नी मुख्यमंत्री तो बन गए लेकिन वह अपनी ही पार्टी के रोजगार और अन्य कार्डों को भूल कर नए कार्डों का पुराना खेल खेलने लगे हैं। चन्नी सरकार द्वारा पांच मरले के प्लॉटों के लिए कार्ड बांटने के ड्रामे पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि चन्नी अब पंजाब के बेघर लोगों को पांच मरले प्लॉट के सपने दिखाने लगे हैं। जिस प्रकार रोजगार कार्ड एक झांसा था, उसी तरह चन्नी द्वारा लोगों को पांच मरले जमीन देने का दावा भी महज फर्जीवाड़ा है।

सिसोदिया ने कहा कि जिस प्रकार कैप्टन के रोजगार कार्ड से किसी को रोजगार और रोजगार भत्ता नहीं मिला, ठीक उसी तरह मुख्यमंत्री चन्नी का पांच मरला प्लॉट भी किसी को नहीं मिलने वाला। मनीष सिसोदिया ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से पूछा कि वह तीन बार विधायक और फिर मंत्री रह चुके हैं, वह बताएं कि उन्होंने आज तक पांच मरला प्लॉट किसे दिया था। सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस का यह छलावा 1961 से चल रहा है लेकिन इसे बार-बार लोगों को झांसे में फांसने के लिए चुनाव से पहले निकाल लिया जाता है। 2017 में भी चुनाव से पहले यही वादा किया गया था, जो साढ़े चार साल तक तो पूरा नहीं किया गया। लेकिन अब शेष चार महीने में कैसे करेंगे, यह बात अब जनता भी अच्छी तरह समझती है।

मनीष सिसोदिया ने इसके बाद कई सवालों के जवाब देते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी जो वादे करती है, काम उससे अधिक करके दिखाती है।
इस अवसर पर अन्य स्थानिय नेताओं में आलंपियन सुरिंदर सिंह सोढ़ी, डीसीपी बलकार सिंह, जालंधर से लोकसभा इंचार्ज रमनीक रंधावा, प्रवक्ता डॉ. संजीव शर्मा, डा. शिव दयाल माली, हरचरण सिंह संधू, प्रिंसिपल प्रेम कुमार, बलवंत भाटिया, आईएस बगगा, अमृतपाल सिंह, गुरप्रीत कौर, मंजीत सिंह, कीमती केसर, अजय भगत, शुभम सचदेवा, जसकरन, सुभाष शर्मा, इंदर वंश चड्ढा, विकास ग्रोवर, सूरज इंगरिश और हिम्मत सभ्रवाल उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.