सुखजिंदर सिंह रंधावा की तरफ से भोगपुर सहकारी चीनी मिल में पिराई सीजन की शुरूआत

जालंधर पंजाब ब्रेकिंग न्यूज़

भोगपुर (जालंधर), 23 नवंबर (न्यूज़ हंट)- भोगपुर सहकारी चीनी मिल, जिसकी गन्ना दबाने की सामर्थ्य में 3000 टीसीडी तक विस्तार किया गया है, में उप मुख्यमंत्री पंजाब स.सुखजिंदर सिंह रंधावा की तरफ से आज साल 2021 -22 के लिए गन्ना के पिराई सीजन की शुरुआत की गई, जिस दौरान तकरीबन 36 लाख क्विंटल गन्ना पीरा जाएगा।

उप मुख्यमंत्री पंजाब, जिनके पास सहकारिता विभाग का प्रभार भी है, की तरफ से 30 -30 करोड़ रुपए के साथ पूरा होने वाले दो अहम प्राजैक्ट, जिनमें 15 मेगावाट का बिजली उत्पादन प्लांट और बायो सी.एन.जी.प्लांट शामिल है, का नींव पत्थर भी रखा गया।

प्रोजैक्टों के बारे में जानकारी देते हुए उप मुख्यमंत्री पंजाब ने बताया कि 15 मेगावाट बिजली उत्पादन प्लांट धान की पराली की सभ्य संभाल को यकीनी बनाने में बहुत लाभदायक साबित होगा, यह प्राजैक्ट बड़े स्तर पर फसलों के अवशेषों की संभाल में अहम भूमिका निभाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि यह प्लांट पराली प्रबंधन के नज़रिए से 20 किलोमीटर के घेरे में रहने वाले किसानों की ज़रूरतों को पूरा करेगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा सीजन दौरान इस प्लांट की तरफ से 16 करोड़ रुपए की बिजली बेची जाएगी, जिसके साथ इस चीनी मिल की आमदन में और विस्तार होगा और यह प्लांट अब सारा साल काम करेगा।

इसी तरह उप मुख्यमंत्री की तरफ से 30 करोड़ रुपए की लागत के साथ सी.एन.जी. आधारित बायो गैस प्लांट का नींव पत्थर भी रखा गया, जो रोजाना चार टन बायो सी.एन.जी गैस का उत्पादन करेगा और रोज़ाना की 100 टन तक फसलों की अवशेष की उपभोग होगी। उन्होंने आधिकारियों को आस -पास के क्षेत्रों में पाईपलाईनों के द्वारा बायो सी.एन.जी.गैस की स्पलाई को यकीनी बनाने के आदेश भी दिए।

इस अवसर पर स.रंधावा, जिनके साथ चेयरमैन तकनीकी शिक्षा बोर्ड महिंद्र सिंह के.पी., विधायक पवन कुमार आदिया, कांग्रेसी नेता कंवलजीत सिंह लाली भी मौजूद थे, ने ऐलान किया कि इस मिल की सामर्थ्य 3000 टीपीडी की मौजूदा सामर्थ्य से बढा कर 5000 टन प्रति दिन की जायेगी और 2023 -24 तक 46 लाख टन गन्ने की प्रोसैसिंग करने का लक्ष्य हासिल किया जाएगा। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि अगले पिराई सीजन तक सामर्थ्य को 26 लाख क्विंटल टन से बढा कर 36 लाख टन प्रति सीजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि फगवाड़ा क्षेत्र के साथ सबंधित किसानों की फ़सल सम्बन्धित प्रक्रिया भी यहाँ ही की जाएगी।

राज्य भर में चीनी मिलों, जो पिछली अकाली -भाजपा सरकार दौरान ख़स्ता हाल हो गई थी, को फिर सुरजीत करने की पहलकदमियों पर रौशनी डालते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि गन्ने के बीज की गुणवत्ता में सुधार करने के उदेश्य से एक खोज केंद्र के इलावा बटाला और गुरदारसपुर क्षेत्र में चीनी मिलों के बुनियादी ढांचे को मज़बूत करने के लिए 600 करोड़ रुपए की बड़ी रकम ख़र्च की जा रही है।

उन्होंने आधिकारियों को आदेश दिए कि किसानों को उनकी फ़सल की खरीद के लिए पर्ची की बाँट में पूरी पारर्दशिता को यकीनी बनाया जाए जिससे पिराई सीजन को निर्विघ्न ढंग से पूरा किया जा सके।

इस दौरान उप मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए टैकनीकल शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन महेन्दर सिंह के.पी. ने कहा कि इस चीनी मिल की सामर्थ्य में विस्तार किए जाने के साथ इस क्षेत्र के किसानों की काफी देर की माँग पूरी हो गई है। उन्होंने मुख्यमंत्री स.चरनजीत सिंह चन्नी का नेतृत्व वाली पंजाब सरकार का राज्य में चीनी मिलों के बुनियादी ढांचे को फिर सुरजीत करने के लिए किये जा रहे प्रत्यनों के लिए धन्यवाद किया। पूर्व विधायक कंवलजीत सिंह लाली ने भी सहकारिता मंत्री का राज्य में चीनी मिलों को समर्थ बनाने के लिए किये प्रयत्नों के लिए धन्यवाद किया।

इससे पहले उप मुख्यमंत्री की तरफ से तरस के आधार पर 18 व्यक्तियों को नियुक्ति पत्र सौंपे गए।

इस अवसर पर विशेष प्रमुख सचिव सहकारिता वरुन रूज़म, शूगरफैड्ड पंजाब के एम.डी. राजीव कुमार गुप्ता, शूगरफैड्ड पंजाब के जी.एम. कंवलजीत तूर, भोपुर सुगर मिल के चेयरमैन परमवीर सिंह, डायरैक्टर परमजीत सिंह, गुरदावर राम, हरजिन्दर सिंह, मनजीत सिंह, हरजिन्दर सिंह, सतपाल और भोगपुर सुगर मिल के जी.एम. अरुण कुमार अरोड़ा और अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *