केजरीवाल ने शिक्षा के लिए पंजाबियों को दी चौथी गारंटी

देश पंजाब पठानकोट ब्रेकिंग न्यूज़

पठानकोट/चंडीगढ़, 2 दिसंबर (न्यूज़ हंट)- आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय कन्वीनर एवं दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पठानकोट में पंजाब वासियों को अच्छी और मुफ्त शिक्षा की चौथी गारंटी दी, जिसके तहत पंजाब में पैदा होने वाले हर बच्चे को मुफ्त और बेहतरीन सरकारी शिक्षा देने के लिए पंजाब सरकार जिम्मेदार होगी।

शिक्षा व्यवस्था के संबंध में चौथी गारंटी का एलान करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली की तरह पंजाब में भी बेहतरीन और मुफ्त सरकारी शिक्षा दी जाएगी। अमीर और गरीब के बच्चे को एक जैसी शिक्षा मिलेगी। पंजाब और देश के निर्माण की बात तभी आगे बढ़ेगी, जब बच्चों को बेहतरीन और मुफ्त शिक्षा मिलेगी।’’ उन्होंने कहा कि दिल्ली में सरकारी बजट का 25 प्रतिशत बजट शिक्षा पर खर्च किया जाता है। इस कारण वहां सरकारी स्कूली शिक्षा बेहतर हुई है और करीब 2.50 लाख वे बच्चे सरकारी स्कूलों में दाखिल हुए हैं, जो पहले निजी (प्राइवेट) व महंगे स्कूलों में पढ़ते थे।
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बच्चे 99.97 प्रतिशत पास हुए हैं और इन स्कूलों में से उत्तीर्ण होने वाले बच्चों ने डॉक्टरी, इंजीनियरिंग के कोर्सों में दाखिले प्राप्त किए हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भी पहले सरकारी स्कूली शिक्षा बहुत बुरी थी, जिसे आम आदमी पार्टी की सरकार ने ठीक किया है। शिक्षा व्यवस्था ठीक होने की खबर सुनकर अमरीका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनल ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप भी दिल्ली के सरकारी स्कूल देखने आई थी, भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें रोकने के प्रयास किए थे।

अरविंद केजरीवाल ने पंजाब की सरकारी शिक्षा व्यवस्था का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में अध्यापक दुखी हैं, क्योंकि उन्हें स्थायी (रेगुलर) नहीं किया जाता और सम्मानजनक वेतन नहीं दिया जाता। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनाने की अपील करते हुए केजरीवाल ने कहा कि प्रदेश में ‘आप’ की सरकार बनने पर मुफ्त और बेहतरीन सरकारी शिक्षा का प्रबंध करना सरकार की जिम्मेदारी होगी। नए स्कूला बनाए जाएंगे और पुरानी इमारतों का नवनिर्माण किया जाएगा। अध्यापकों को स्थायी नौकरियां दी जाएंगी और सम्मानजनक वेतन दिया जाएगा। पंजाब की सरकारी शिक्षा व्यवस्था को भी अमरीका, लंडन, कनाडा से देखने के लिए लोग आया करेंगे।

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के विधानसभा हलके चमकौर साहिब के सरकारी स्कूलों की दयनीय हालत चन्नी और शिक्षा मंत्री परगट सिंह के दावों की हवा निकाल रही है, जहां 6 हजार रुपये मासिक वेतन वाला अस्थायी अध्यापक 5 कक्षाएं संभाल रहा है। नतीजतन मां-बाप ने अपने बच्चे हटा लिए और सिर्फ 30 बच्चे ही रह गए हैं। सिसोदिया ने कहा कि सिर्फ 2 महीने की बात है, ‘आप’ की सरकार बनते ही स्कूलों को लगे ताले खुल जाएंगे, जाले साफ हो जाएंगे और समूची स्कूल व्यवस्था का कायाकल्प कर दिया जाएगा।
इस मौके पर भगवंत मान ने कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार सरकारी स्कूलों के गेटों और दीवारों पर मां-बाप, अध्यापकों और दानकर्ताओं के पैसों के साथ कली-पोचा (सफे दी) करवाकर इन सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूल बता रही है। इसका पर्दाफाश दिल्ली के शिक्षा एवं उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मुख्यमंत्री चन्नी के विधानसभा क्षेत्र के स्कूलों का पहला दौरा करके कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.