मुख्यमंत्री द्वारा पंजाब पुलिस के जवानों के लिए नये साल पर तोहफ़ा

Jalandhar National Punjab ब्रेकिंग न्यूज़

जालंधर, 31 दिसंबर (न्यूज़ हंट)- पंजाब पुलिस के मुलाज़िमों के लिए नये साल के तोहफ़े के तौर पर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह ने आज पुलिस मुलाज़िमों के लिए कई पहलकदमियों का ऐलान किया।

आज यहां पी.ए.पी. कंपलैक्स में हुए एक समागम के दौरान मुख्यमंत्री ने पुलिस मुलाजिमों के साथ भावुक होते हुये कहा कि हथियारबंद बलों और पुलिस में सेवा एक चुनौतीपूर्ण काम है और सिर्फ़ वही लोग ही इनमें शामिल होते हैं जिनमें देश और इसके लोगों की सेवा करने का जज़्बा होता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में पंजाब पुलिस के कीमती योगदान को मानती है और पंजाब पुलिस के मुलाज़िमों के कल्याण के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी। मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि पंजाब में पुलिस मुलाजिमों के हितों की रक्षा को यकीनी बनाने के लिए राज्य सरकार बाध्य है।

मुख्यमंत्री चन्नी ने पुलिस मुलाज़िमों की बड़ी मांग को स्वीकृत करते हुये आगामी नये साल से वर्दी भत्ता फिर शुरू करने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि पुलिस मुलाज़िमों को अच्छी क्वालिटी की वर्दी मुहैया करवाई जायेगी, जिसका पूरा भुगतान सरकार द्वारा किया जायेगा। मुख्यमंत्री चन्नी ने सरकारी बसों में किसी भी ड्यूटी वाले पुलिस मुलाज़ीम के लिए मुफ़्त बस यात्रा का ऐलान किया और कहा कि पुलिस मुलाजिमों को 13 महीनों का वेतन मिलता रहेगा।

इसी तरह मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि बम बेकार करने वाली यूनिटें ड्यूटी के दौरान अपनी जान को खतरे में डालती हैं और इसको देखते हुये राज्य सरकार उनको जोखिम भत्ता मुहैया करवाएगी। उन्होंने कैंपों के दौरान पंजाब पुलिस के खिलाड़ियों के लिए डाइट के लिए मिलती राशि मौजूदा 150 रुपए से बढ़ा कर 250 रुपए प्रति दिन करने का भी ऐलान किया। मुख्यमंत्री चन्नी ने खेल को बढ़ावा देने के लिए पीएपी कैंपस में 1करोड़ रुपए की लागत से ग्राउंड की मुरम्मत का भी ऐलान किया।

मुख्यमंत्री चन्नी ने यह भी कहा कि राज्य में आने वाले प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए अमृतसर और मोहाली हवाई अड्डों पर पुलिस सांझ केंद्र खोले जाएंगे। उन्होंने पुलिस फोर्स में 250 वाहनों की खरीद के लिए ज़रुरी फंडों का ऐलान भी किया। मुख्यमंत्री चन्नी ने अगले बजट से पुलिस कल्याण फंड को मौजूदा 10 करोड़ रुपए से बढ़ा कर 15 करोड़ रुपए करने का भी ऐलान किया।

मुख्यमंत्री चन्नी ने देश में अमन-शांति और कानून व्यवस्था बनाई रखने में पुलिस द्वारा निभाई सेवाओं की सराहना करते हुये कहा कि पुलिस के बिना देश की तरक्की की कल्पना भी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि पुलिस सच्चे लोगों की दोस्त होती है जबकि अपराधी पुलिस से डरते हैं। मुख्यमंत्री चन्नी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि पुलिस की ईमानदारी पर कोई भी सवालिया चिह्न लगाने का मतलब नहीं बनता।

मुख्यमंत्री चन्नी ने आतंकवाद के काले दिनों के बाद राज्य के हालात आम की तरह करने में पंजाब पुलिस की भूमिका की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस की शानदार सेवाओं का दुनिया भर में शायद ही कोई मुकाबला हो। मुख्यमंत्री चन्नी ने यह भी उम्मीद ज़ाहिर की कि पंजाब पुलिस राज्य में से नशे की बुरायी का सफाया करके राज्य की सेवा करने की अपनी अमीर परंपरा को कायम रखेगी।

मुख्यमंत्री चन्नी ने यह भी कहा कि मतदान के मद्देनज़र राज्य विरोधी ताकतें पंजाब की अमन शांति को भंग करने पर तुली हुई हैं। हालाँकि, उन्होंने कहा पंजाबियों ने हमेशा ही देश की एकता और प्रभुसत्ता की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी है और कहा कि अब भी पंजाबी देश की सेवा के लिए सबसे आगे होंगे। मुख्यमंत्री चन्नी ने आशा प्रकट की कि लोगों के भरपूर सहयोग से इन चुनौतियों पर जल्द ही काबू पाया जायेगा।

इससे पहले अपने संबोधन में उप मुख्यमंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। उन्होंने देश के प्रति मिसाली सेवाएं निभाने के लिए पंजाब पुलिस की भी सराहना की। रंधावा ने यह भी कहा कि राज्य में पुलिस मुलाजिमों के कल्याण के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी।

इस दौरान कैंपस पहुँचने पर सी.एम. चन्नी को पीएपी कंपलैक्स में गार्ड आफ ऑनर दिया गया। उन्होंने शहीदी स्मारक पर फूल मालाएं भेट करके पुलिस के शहीदों को श्रद्धांजलि भी दी। मुख्यमंत्री चन्नी ने वैलफेयर मीटिंग के दौरान पंजाब पुलिस के अधिकारियों के साथ भी बातचीत की।

इस मौके पर अन्यों के इलावा उप मुख्यमंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा, कैबिनेट मंत्री डॉ. राज कुमार वेरका, डीजीपी पंजाब सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय, डीजीपी पीएपी आईपीएस सहोता भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.