Sawan 2022 : हर संकट होगा दूर, घर में आएगी खुशहाली; सावन में जरूर करें ये उपाय

National

सावन में वास्तु से जुड़े कुछ उपाय करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा संचार बने रहता है। इस माह भगवान शिव की सच्चे मन से उपासना करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। सावन का हर दिन शुभ और कल्याणकारी है। मान्यता है कि सावन में अलग-अलग मनोकामनाओं की पूर्ति के उपाय किए जा सकते हैं। सावन में वास्तु में बताए गए उपायों को करने से घर- परिवार में खुशहाली बने रहती है। इसके साथ ही धन, स्वास्थ्य और कार्यक्षेत्र में सुखद परिणाम सामने आते हैं।
धन की कमी होगी दूर
सावन में शुक्रवार के दिन विशेष उपाय करने से आर्थिक तंगी या कंगाली नष्ट हो जाती है। इस महीने शिव उपासना से जीवन में धन की सारी मुश्किलें हल की जा सकती हैं। इस दिन शाम को मंदिर जाकर भगवान शिव को जल अर्पित करें। इसके बाद नमः शिवाय का 108 बार जाप करें। इसके बाद मां लक्ष्मी के मंत्र का जाप करें। इनका मंत्र है- ‘ॐ श्रीं ह्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मयै नम:।
कर्ज से मिलेगी मुक्ति
मंत्रोजाप के बाद शाम को पहले शिवजी की आरती करें फिर मां लक्ष्मी की आरती करें। फिर महादेव और मां लक्ष्मी से धन प्राप्ति की प्रार्थना करें। जीवन में अगर कर्ज से परेशान हैं तो घबराएं नहीं। सावन में रोजाना शिवलिंग पर लाल फूल चढ़ाएं। इसके बाद “नमः शिवाय” बोलते हुए शिवलिंग को जल अर्पित करें। फिर मां लक्ष्मी को लाल गुलाब का फूल चढ़ाएं और मीठे पकवान का भोग लगाएं। शिवलिंग की परिक्रमा करें और दोनों देवी-देवता से कर्ज मुक्ति की प्रार्थना करें।
घर में आएगी सुख-शांति
घर में सुख-शांति, खुशहाली और समृद्धि के लिए सावन में घर में रोजाना गंगाजल का छिड़काव करें। सावन में रुद्राक्ष धारण करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। सावन माह में घर में तुलसी का पौधा स्थापित करें। तुलसी के पौधे को उत्तर दिशा में लगाएं।
बीमारियों से रहेंगे दूर
सावन में हर सोमवार को भगवान शिव का स्मरण करते हुए व्रत रखें और वस्त्र अर्पित करें। तामसिक भोजन से दूर रहें। इस महीने रोजाना शिवलिंग पर जल में देसी घी मिलाकर अर्पित करें। ऐसा करने से शारीरिक बीमारियां दूर हो जाती हैं।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। NEWS HUNT इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.