15.5 C
Jalandhar
Tuesday, March 5, 2024

द कश्मीर फाइल्स पर बयान देने वाले लैपिड पर भड़के अनुपम खेर; बोले- उसे जूते खाने की आदत है…

साल की सबसे बड़ी हिट फिल्म द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) पर छिड़ी कन्ट्रोवर्सी थमने का नाम नहीं ले रही है। इस फिल्म पर नदव लैपिड के ‘वल्गर प्रोपेगेंडा’ वाले बयान के बाद भारत में जैसे हंगामा मच गया। इस पूरे मामले पर अनुपम खेर ने एक निजी न्यूज चैनल से एक्सक्लूसिव बात की, जहां उन्होंने नदव लैपिड के बयान को शर्मनाक बताया और कहा कि उन्हें जूते खाने की आदत है।
अनुपम खेर ने लैपिड को कहा बीमार : कश्मीरी पंडितों का दर्द बयां करने वाली द कश्मीर फाइल्स वो फिल्म है, जिसने बॉक्स ऑफिस पर कामायाबी के झंडे गाड़े। इस फिल्म को साल की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में गिना जाता है। इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI) में इस फिल्म का चुनाव गोल्डन पीकॉक अवॉर्ड कैटेगरी के लिए किया गया है।
लैपिड का एजेंडा : अनुपम ने आगे कहा- मैं मानता हूं कि ये बेहद निंदनीय है। एक इंसान जो कश्मीर में हुए नरसंहार को नहीं समझ सकता, उस दर्द के प्रति इनसेंसिटिव रहता है, ये मेरे हिसाब से डरावना ही नहीं शर्मनाक भी है, लेकिन ये भी सच है कि हमारी दुनिया में इस तरह के कई लोग हैं, जो ऐसा सोचते हैं. लेकिन नदव लैपिड ने खासकर वो शब्द चुने जिसने मुझे गुस्सा दिलाया है क्योंकि उनके दिमाग में एक एजेंडा है, जिस वजह से उन्होंने उस तरह के शब्द कहे। उनके शब्दों को सुनकर वो ‘टूलकिट’ गैंग भी कहेंगे, कि देखिए हम जो कह रहे थे वो सच था जो लोग हमारे देश में रहकर ही फिल्म को गलत कह रहे थे, वो एक्टिव हो जाएंगे।
नदव के बयान से आहत अनुपम ने आगे कहा- इससे इतर अगर मैं कहूं कि ऐसा कुछ है नहीं। उन्होंने जो कहा वो बेहद शर्मनाक है। इस तरह के प्लेटफॉर्म को ऐसे इस्तेमाल करना और उस तरह के शब्द कहना वाजिब नहीं है। ये पूरी तरह से प्रीप्लान्ड है। सोच समझ कर ये सारी बातें कही गई हैं। वो चाहते तो पहले भी फिल्म के खिलाफ ट्विटर पर कुछ लिख सकते थे कि मैं जूरी मेंबर हूं और मैं फिल्म के बारे में ये सोचता हूं, लेकिन उन्होंने एक मंच का इस्तेमाल किया, पेपर निकाला और एक स्टेटमेंट को पढ़ा। वो चाहते थे कि इस ट्रेजिडी को एक अलग रूप दें, और लोगों ने भावनाओं के साथ खेलें। वो दिमागी रूप से बीमार हैं। ये मैं बड़ी जिम्मेदारी के साथ कह रहा हूं। एक जूरी मेंबर का डेकोरम होता है, जिसके तहत वो कोई बयान देता है।
कौन हैं नदव लैपिड
कश्मीर फाइल्स को वल्गर प्रोपेगेंडा बताने वाले नदव एक इजरायली स्क्रीनराइटर और फिल्ममेकर हैं। नदव पहले भी कई बार इस तरह के बयान देते रहे हैं। उनके करियर काफी विवादों में रहा है। ये जानने के बाद अनुपम खेर ने कहा कि फिर मैं कहूंगा कि उन्हें हर प्लैटफॉर्म पर जूते खाने की आदत है, वो ऐसे ही स्टेटमेंट देता है, उसे जूते पड़ते होंगे हर जगह। अब यहां भी ऐसे बयान दे रहा है, उसे जूते पड़ ही रहे हैं। बहुत सारे लोग जो, जिनसे मैंने बात की है। कभी कभी लोग ऐसे बायन देकर सुर्खियों में आना चाहते हैं। चाहते हैं उन्हें लोग नोटिस करें, लेकिन ये सब वजह नेगेटिव है, ये नहीं समझते हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
21,600SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles