डा. अर्चना शर्मा सुसाईड केस खन्ना ने मामला उठाया मानवाधिकार आयोग के समक्ष दोषियों के विरुध कारवाई तथा पीडि़त परिवार को 10 लाख मुआवजे की मांग

Hoshiarpur National Punjab ब्रेकिंग न्यूज़

होशियारपुर, (न्यूज़ हंट)-  भाजपा हिमाचल प्रदेश प्रभारी व पंजाब के पूर्व राज्यसभा सांसद अविनाश राय खन्ना ने राजस्थान के दौसा जिला में एक निजी अस्पताल की गायनेकॉलोजिस्ट डा. अर्चना शर्मा द्वारा पुलिस व राजनीतिक हरासमैंट से तंग आकर आत्महत्या करने के मामले को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष उठाया है।

इस संबंधी खन्ना के कार्यालय से ज्योति कुमार जौली ने जानकारी देते हुए बताया कि अपने पत्र में श्री खन्ना ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को कहा है कि महिला डॉक्टर अर्चना शर्मा ने खुदकुशी से पहले लिखे सुसाईड नोट में बताया है कि उसने स्थानीय पुलिस व राजनीतिक धक्केशाही से तंग आकर खुदकुशी की है। खन्ना ने बताया कि महिला डॉक्टर के विरुध धारा 302 के तहत केस दर्ज करने वाले दोषी पुलिस मुलाजिमों के विरुध सरकार द्वारा कोई कारवाई न करना मृतक डॉक्टर व उसके परिवार के मानवाधिकारों का हनन है। खन्ना ने आयोग से मांग की है कि दोषी पुलिस मुलाजिमों व सम्मिलित अन्य लोगों को चिन्हित कर उनके विरुध उचित कारवाई की जाए तथा महिला डॉक्टर अर्चना शर्मा के परिवार को 10 लाख रुपए का मुआवजा दिलवाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.