सरकार ने ब्लॉक किए 348 ऐप्स, यूजर्स की जानकारी को इकट्ठा करने का लगा आरोप

Technology

नई दिल्ली, टेक डेस्क : सरकार ने चीन सहित विभिन्न देशों द्वारा विकसित 348 मोबाइल एप्लिकेशन को ब्लॉक कर दिया है। इन ऐप्स को नागरिकों की प्रोफाइलिंग के लिए यूजर की जानकारी एकत्र करने और इसे गलत तरीके से विदेशों में भेजने के लिए दोषी पाया गया है।

348 मोबाइल एप्लिकेशंस हुए ब्लॉक
इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने भाजपा के रोडमल नागर के एक सवाल के जवाब में लोकसभा में यह घोषणा की।
चंद्रशेखर ने कहा कि ये 348 मोबाइल एप्लिकेशन यूजर्स की जानकारी एकत्र कर रहे थे और इसे अनधिकृत तरीके से प्रोफाइलिंग के लिए देश के बाहर स्थित सर्वरों तक पहुंचा रहे थे।
MHA के अनुरोध के आधार पर इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने उन 348 मोबाइल एप्लिकेशन को ब्लॉक कर दिया है क्योंकि इस तरह के डेटा ट्रांसमिशन भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा और राज्य की सुरक्षा का उल्लंघन करते हैं।
यह पूछे जाने पर कि क्या ये सभी ऐप चीन द्वारा विकसित किए गए हैं, चंद्रशेखर ने कहा कि ये ऐप चीन सहित विभिन्न देशों द्वारा विकसित किए गए हैं।
यह दक्षिण कोरिया की गेमिंग दिग्गज क्राफ्टन के एक लोकप्रिय बैटल रॉयल गेम, बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया (BGMI) को अपने प्ले स्टोर से हटाने के कुछ दिनों बाद आता है। Google ने कहा था कि उसे इस संबंध में सरकार से एक आदेश मिला है और इसलिए ऐप तक पहुंच को अवरुद्ध कर दिया है।
बता दें कि सितंबर 2020 में, डेटा सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए, क्राफ्टन के प्लेयर यूएनडॉग्स बैटलग्राउंड (PUBG) को 117 अन्य चीन-लिंक्ड ऐप्स के साथ प्रतिबंधित कर दिया गया था।
इससे पहले बैटल रॉयल गेम फ्री फायर को सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए 14 फरवरी को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69A के तहत 53 अन्य चीन से जुड़े ऐप के साथ प्रतिबंधित कर दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.