सिर्फ अर्पिता ही नहीं 6 और करीबी महिलाओं को गाड़ियां, फ्लैट और कैश देते थे पार्थ चटर्जी

National

न्यूज हंट. कोलकाता : स्कूल शिक्षकों की भर्ती में कथित घोटाले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ED) की जांच जारी है। इस मामले में अब बड़ा खुलासा हुआ है। ईडी की जांच में पार्थ चटर्जी की 6 से ज़्यादा महिला मित्रों का नाम सामने आया है। अर्पिता की तर्ज़ पर पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी हर महिला मित्र को मंहगे गिफ़्ट, गाड़ियां, फ़्लैट और कैश देते थे। अब पार्थ की करीबी सभी महिलाएं ईडी की रडार पर हैं। जानकारी मिली है कि पश्चिम बंगाल के अलावा बांग्लादेश में भी पार्थ की महिला मित्रों ने संपत्ति खरीदी थी। ईडी के अधिकारी अब इन सभी संपत्तियों की जांच में जुट गए हैं। जरुरत पड़ने पर सभी महिलाओं की संपत्तियों को सील भी किया जा सकता है।
पार्थ और अर्पिता के बैंक खातों की जांच में जुटी ईडी
पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी के बैंक खातों को लेकर भी ईडी बेहद सक्रिय है। छापेमारी के दौरान ईडी को बंधन बैंक की पासबुक और बंधन बैंक की चेक बुक बरामद हुआ थी जिसके बाद आज बंधन बैंक की दो वरिष्ठ अधिकारियों को ईडी ने समन करके ईडी दफ़्तर बुलाया है, जहां दोनों अधिकारी ईडी ऑफ़िस पहुंच गए हैं और पार्थ और अर्पिता के बैंक खातों और चेक बुक से लेन देन को लेकर ईडी पूछताछ कर रही है।
ईडी के अर्पिता के पास से पहले 21 फिर मिले 28 करोड़ कैश
ईडी ने शहर के चिनार पार्क इलाके में अर्पिता मुखर्जी से जुड़े अपार्टमेंट पर बृहस्पतिवार देर शाम छापा मारा था। ईडी ने मुखर्जी के एक फ्लैट से लगभग 28 करोड़ रुपये नकदी बरामद करने के एक दिन बाद इस फ्लैट पर छापा माराथा. केंद्रीय एजेंसी कथित स्कूल भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में मुखर्जी को गिरफ्तार कर चुकी है। पिछले हफ्ते शहर में उसके एक और फ्लैट से ईडी ने 21 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब नकदी जब्त की थी।
ईडी के अधिकारी ने कहा, ”यह (चिनार पार्क) अपार्टमेंट अर्पिता मुखर्जी का है और हमें संदेह है कि उसके अन्य फ्लैटों की तरह, यहां भी नकदी जमा हो सकती है। हम पड़ोसियों से बात कर रहे हैं और यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि यहां किस तरह की गतिविधियां की गई हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.